Select Page

अरे जवानी

अरे जवानी भटकत काबर, रद्दा छोड़ ।परे नशा पानी के चक्कर, मुँह ला मोड़ ।।धरती के सेवा करना हे, होय सपूत ।प्यार-व्यार के चक्कर पर के, हवस कपूत...
error: