Select Page

सोच रहा हूँ क्या लिखूँ

  सोच रहा हूँ क्या लिखूँ, लिये कलम मैं हाथ । कथ्य कथानक शिल्प अरू, नहीं विषय का साथ ।। नहीं विषय का साथ, भावहिन मुझको लगते । उमड़-घुमड़ कर भाव, मेघ जलहिन सा ठगते ।। दशा देश का देख, कलम को नोच रहा हूँ । कहाँ मढ़ू मैं दोष, कलम ले सोच रहा हूँ ।। सदियों से तो स्वार्थ...

शहिदों का बलिदान पुकारे

शहिदों का बलिदान पुकारे । यक्ष प्रश्न वे एक विचारे ।। जन्म-जन्म का मेरा नाता । आज दुखी क्यों भारत माता ।। जागो मेरे जवान बेटो । भारत माता का दुख मेटो । सोते क्यों हो पैर पसारे जब छलनी है सीने हमारे । कफन बांध हम तो थे रण पर । कमर कसो तुम भी इस पल पर । तब बैरी अंग्रेज...

देशभक्ति

क्या तुम्हारी आत्मा में आवाज है? अपने दुष्कृत्यों पर तुम्हें लाज है? क्या तुम्हें छोटों से स्नेह है? क्या परमार्थ तुम्हारा ध्येय है? क्या तुम्हारी वाणी नर्म है? क्या मानवता तुम्हारा धर्म है? क्या गरीबों से दुआएं लेते हो? क्या असहायों को स्नेह देते हो? अधिकारों के साथ...

भारत माता है भली,

दोहा ‘ भारत माता है भली, भली स्वर्ग से जान । नमन करते शिश झुका, देव मनुज भगवान् ।। चौपाई – लहर लहर झंडा लहराता । सूरज पहले शीश झुकाता । जय हो जय हो भारत माता । तेरा वैभव जग विख्याता ।। उत्तर मुकुट हिमालय साजे । उच्च शिखर रक्षक बन छाजे ।। गंगा यमुना निकली पावन ।...

मैं छत्तीसगढ़िया हिन्दूस्तानी अंव

मैं छत्तीसगढ़िया हिन्दूस्तानी अंवमहानदी निरमल गंगा के पानी अंवमैं राजीम जगन्नाथ के इटिकाप्रयागराज जइसे फुरमानी अंवमैं भोरमदेव उज्जैन खजुराहोकाशी के अवघरदानी अंवमैं बस्तर दंतेवाड़ा दंतेश्वरीभारत के करेजाचानी अंवमैं भिलाई फौलादी बाजूभारत भुईंया के जवानी अंवमोर कका-बबा...
error: