Select Page

जस गीत-मइया बइठे हे रतन सिंहासन मा रे जगमगागे भुवनवा

जस गीत (ताल दादरा) मइया बइठे हे रतन सिंहासन मा रे जगमगागे भुवनवा अष्ट सिद्धि नौ निधि माँ के संग मा रे जगमगागे भुवनवा मोरे मइया के कोई रूप् न जाने कसम कसेटि छबि देख लजाने बाणी से कुछ बने नहीं बरनन रे जगमगागे भुवनवा छत्र मुकुट कुंडल अति सोहे देखत रूप् चराचर मोहे मांघ...

जेवारा गीत-तोरे फूल बगिया माँ मन भौरा भुलागे

जेवारा गीत तोरे फूल बगिया माँ मन भौरा भुलागे तोरे फूल बगिया माँ पद तोरे बगिया के हरी-भरी पतियां, फूल फूले मद माते लाल गुलाबी नीला पीला, केसरिया लहरा के बोलत कीर चकोर कोयलिया, रुमछुम रुमछुम हां गुंजन भरे बगिया रुम छुम रूमझुम हां आशा-ममता लोभ मोह के, सुंदर बने कियारी...

जेवारा गीत-जग जननी माँ तैं जग तारण माई

  जेवारा गीत जग जननी माँ तैं जग तारण माई तैं जग तारण माई ओ हे अम्बे तैं जग तारन माई ओ जगदम्बे मां तैं जग तारन माई ओ नमो नमो मां हे सुखकरनी नमो नमो दुखहरनी नमो नमो हे जगकल्य़ाणी नमो विश्व रूप धरणी नमो नमो हे आदि भवानी तुम जग पालक माई ओ जग जननी मां तैं जगतारण माई ओ...

जेवारा गीत-सुमरव मैं जननी, चरण कमल तोर हां

जेवारा गीत चरण कमल तोर हां, सुमरव मैं जननी, चरण कमल तोर हां हे जग जननी आदि भवानी आदि शक्ति महामाया तू ही जग के सिरजनहारी तेरो ही जग छाया जगतस्वरूपणी स्वयं तुमही हो, केही मुख वरणव हां मोरे आदि भवानी केही मुख बरनव हां सर्वरूप में सर्व रूप से सर्व में तू ही समाये नाम...

जेवारा गीत-मोर मइया भवानी के, छबी नहीं वरणन जाये

जेवारा गीत मोर मइया भवानी के, छबी नहीं वरणन जाये हो ……..छबी नहीं बरणन जाये मोर मइया भवानी के जगमगात मुकट सिर ऊपर, काला केश हे छाये हा.. काला केश हे छाये कानन-कुण्डल नाक में नथली, मोतियन मांग सजाये हा…मोतियन मांग सजाये माँ के नैना सुहावन, शांति सुमन...
error: