Select Page

देश-भक्ति

हमर धरम तो बस एक हे । देश-भक्ति हा बड़ नेक हेजनम-भूमि जन्नत ले बड़े । जेखर बर बलिदानी खड़ेमरना ले जीना हे बड़े । जीये बर जीवन हे पड़ेछोड़ गोठ तैं अधिकार के । अपन करम कर तैं झार केअपने हिस्सा के काम ला । अपने हिस्सा के दाम लाकरना हे अपने हाथ ले । भरना हे अपने हाथ लेबइमानी...
error: