Select Page

नवा बिहान (गीत)

नव बिहान (गीत) नवा बिहान आगे रे …जागव किसान मन 2 हरियर हरियर राहेर कोदो 2 दिखत हे धान मन नवा बिहान आगे रे ……………   1 – संझा बिहनिया धरती दे के सेवा ल करबो एही माटी म जीबो संगी एही माटी म मरबो  चिरई चुरगुन देखव घलो  2 छेड़त...

ये राजा मोरे

//गीत//(नायिका बर एकल गीत) नायक वर्णनये राजा मोरे, तोरे आँखी के, करिया-करिया काजर ।आँखी-आँखी के, ये वोली बतरस, लागय गुरतुर आगर ।।एक कान के, सुग्घर बाली, अउ अँगठा के छल्ला ।जब-जब तोला, देखँव राजा, होथे मन मा हल्ला ।।तोरे दाढ़ी के, ये करिया चुन्दी, लागय जइसे बादर...

मया के रंग

लुहुर तुहुर मोरे मन होगे,तोरे बर रुझवाये ।तोरे मुच मुच हँसना गोरी, मोला गजब सुहाये।बैइही बरन मोला लागे, सुन सुन भाखा तोरे । मया घोरे बोली हा तोरे, चिरे करेजा मोरे ।कारी कारी चुन्दी तोरे, बादर बन के छाये ।झाकत तोरे मुखड़ा गोरी, मोला बड़ भरमाये ।आँखी आँखी म मया बोरे,...

चमकत रेंगय टूरी

टाॅठ टाॅठ जिन्स पेंट पहिरे, अउ हल हल ले चूरी ।बादर कस चुन्दी बगराये, चमकत रेंगय टूरी ।।पुन्नी के चंदा कस मुहरन, गली गली देखाये ।अपन देह के रूआब गोरी, डहर डहर बगराये ।काजर आंजे आंखी कारी, टूरा मन बर छूरी ।बादर कस चुन्दी बगराये, चमकत रेंगय टूरी ।।तन के चुनरी पाछू टांगे,...

खनक खनक के हाथ मा

खनक खनक के हाथ मा, चूऱी बोले बोल ।मोर मया के राज ला, जग मा देवय खोल ।।चूरी मोरे हाथ के, हवय तोर पहिचान ।रूप सजाये मोर तो, देवय कतका मान ।।खनर खनर जब बोलथे, जियरा जाथे डोल  ।।खनक खनक के हाथ मालाली हरियर अउ पियर, रंग रंग के रंग ।सबो रंग मा तो दिखय,  केवल तोरे...
error: