Select Page

मेरी ताकत है कलम

‌                *मेरी ताकत है कलम* कलम से लिखना सीखा हूं । लिखकर पढ़ना सीखा हूं । मेरी ताकत है कलम । लिख कर पढ़ना पढ़ कर लिखना । और याद करना सीखा हूं । मेरी ताकत है कलम । कलम की सहायता से ही , परीक्षा में प्रथम आना सिखा हूं। मेरी ताकत है कलम । 12वीं ,बीएससी ,एम,ए...

भारत मां के सपूत

                  *भारत मां के सपूत*                           (1) तिलक लगाकर चल, भाल सजाकर चल। माटी मेरे देश की, कफ़न लगाकर चल। देश में वीर योद्धा जन्मे, मच गई खलबल। भारत मां के सपूत है ,आगे चल आगे चल।                          (2) भगत ,चंद्रशेखर, सुखदेव थे...

स्वालंबन बनते जा

                  *स्वावलंबन बनते जा* वीर साहसी आगे कदम बढ़ा जा। कर्म करते जा ,मर्म करते जा। खुद को फौलादी करके, स्वावलंबन बनते जा।स्वावलंबन बनते जा। देश की आन बान शान को बढ़ा जा। अडिग रहते जा, निर्भीक रहते जा। नेक इरादे पक्का करके, स्वावलंबन बनते जा।स्वावलंबन बनते...

आदमी

आदमी आदमी होके आदमी पर न घात कर चल हॅस के हर किसी से बात कर क्या लेके आए हो, क्या लेके जाओगे दिल खोल के हर किसी से मुलाक़ात कर मांगता नहीं कोई तिजोरी किसी का मोहब्बत का खजाना ख़र्च इफरात कर रगो का लहू लाल है हर आदमी का मोहब्बत फैला नफ़रत से न मात कर मिट्टी का पुतला...

गरीबी

गरीबी यहां हर कोई गरीब, हर कोई अमीर है बस हाथों में अपनी उलझी हुई लकीर है देने वाले ने तो दिए, सब को दो ही हाथ कोई तकदीर से राजा तो कोई फ़कीर है हौसलों से भरो, उड़ान हर ख्वाबों की ईर्ष्या द्वेष तो सीने में चुभते हुए तीर है नश्वर दुनियां में हर सय मिट जानी है जो जान...

कठपुतली बनाके नचाया किसी ने

  कठपुतली बनाके नचाया किसी ने पानी में आग लगाया किसी ने बातों में हमको फसाया किसे ने किया कराया है किसी और का चालाकी से अपना बताया किसे ने लड़ते रहे हम बाहरी लोगों से भीतर से हमको सताया किसी ने हरदम बंधी रही आंखों में पट्टी देखा वही जो दिखाया किसी ने बेबसी बड़ी...
error: