Select Page

छेरछेरा

दान पून के तिहार  — छेरछेरा  ************************* हमर भारत देश में पूजा पाठ अऊ दान के बहुत महत्व हे। दान करे बर जाति अऊ धरम नइ लागय। हमर भारतीय संस्कृति  में हिन्दू, मुसलिम, सिख, ईसाई, जैन सबो धरम के आदमी मन दान धरम करथे अऊ पुण्य  कमाथे। हमर वेद पुरान अऊ...

प्रकाश के दोहे

1. श्री गणेश गौरि नंदन, वंदन वर कर जोर । विघ्न हरो हे हर तनय , शुभ करिये चहुँ ओर ।। 2. मेरे वश का है नहीं, है सद्गुरू का नेह । कागज कलम कमाल सब, प्राण बुद्धि मन देह ।। 3. हूँ मैं कुमति कुमारगी, रहत अनँग के साथ । साधनहिन अरू दीन मैं, सब जानत हो नाथ ।। 4. नेह नेम नहीं...

तिल लाड़ू खाव — मकर संक्रांति मनाव

तिल लाड़ू खाव — मकर संक्रांति मनाव मकर संकराति हिन्दू धरम के एक मुख्य तिहार हरे। ए परब ल पूरा भारत भर में एक साथ मनाये जाथे।  पूस मास में सुरुज देव ह धनु राशि ल छोड़ के मकर राशि में प्रवेश करथे इही ल मकर संकराति के नाम से जाने जाथे। मकर संकराति के दिन से ही सूर्य...

तुलसी

तुलसी  घर अँगना अउ चउक मा , तुलसी पेड़ लगाव । पूजा करके प्रेम से ,    पानी रोज चढ़ाव ।। तुलसी हावय जेन घर , वो घर स्वर्ग समान । रोग दोष सब दूर कर , घर मा लावय जान ।। तुलसी पत्ता पीस के , काढा बने बनाव । सरदी खाँसी रोग मा , खाली पेट पियाव ।। तुलसी पत्ता टोर के  , रोज...

कंजूस खोपड़ी

छत्तीसगढ़ी व्यंग -कंजूस खोपड़ी हद सबो के होथे। बिगर हद के पहिचान नइ बनय। ओकरे सेती अति ल जम्मो जघा बरजे गे हे। हद ले जादा होए ले नुकसाने होथे। फइदा के बाते झन सोचय। जे अन ल बिन खाए मनखे जीए नइ सकय। उही ल हद ले जादा खाए म खटिया धर लेथे। त अउ दूसर जिनिस के तो बाते छोड़ दे।...

एके हाथ ले ताली बजथे गा

व्यंग-एके हाथ ले ताली बजथे गा      आज-काल चारो डहर चुनाव के गोठ हवा मा घुरे हे । जेती देखव बस एकेठन काना फॅुसी हे ।  गाँव के टूरा-टनका मन एक-दूसर ले पूछत हे-कोन हा का बॉटत हे रे ?  फलनवा हा कुछु खर्चा-वर्चा बांटत हे का रे ?  फलाने पार्टी के चम्मच मन रात के घुमत रहिस...
error: